जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनाएं योगी आदित्यनाथ जी :- जानिए एक संन्यासी से राजनीति तक का सफर

By | May 20, 2020

योगी आदित्यनाथ (अजय मोहन बिष्ट) का जन्म ५ जून १९७२ में  हुआ।उनके पिता आनंद सिंह बिष्ट एक वन रेंजर थे  ।वे चार भाई और तीन बहन  थी।  उन्होंने उत्तराखंड  के हेमवती नंदन बहुगुणा गढ़वाल विश्व  विद्यालय से शिक्षा पूर्ण की l उनके पिता का २० अप्रैल २०१० को एम्स अस्पताल नई दिल्ली में निधन हो गया ।अयोध्या राम मंदिर आंदोलन में शामिल होने के लिए उन्होंने १९९० में अपना घर छोड़ दिया।उस समय में वह गोरखनाथ मठ के मुख्य पुजारी महंत अवैद्यनाथ के शरण में आए और उनके शिष्य बन गए।यह से  उन्हें ‘योगी आदित्यनाथ’ के नाम से जाना  गया और गोरखनाथ मठ के उत्तराधिकारी के लिए नामित किया गया। अपनी शिक्षा पूर्ण होने के बाद गोरखपुर में रहते हुए योगी आदित्यनाथ ने अक्सर अपने  गाँव का दौरा किया योगी जी ने  १९९८ में वहाँ एक स्कूल की स्थापना की।                  

राजनीति  

वह उत्तर प्रदेश राज्य में २०१७विधानसभा चुनावों में भाजपा के प्रत्याशी चुने गए । उन्हें शनिवार १८ मार्च २०१७ को राज्य का मुख्यमंत्री चुना गया था , और  १९ मार्च को भाजपा के विधानसभा चुनाव जीतने के बाद शपथ ग्रहण की। उत्तर प्रदेश में अवैध बूचड़खानों को मुख्यमंत्री बनने के बाद  बंद कर दिया गया।  योगी जी ने एंटी रोमियो स्क्वॉड के गठन का आदेश दिया। योगी जी ने गाय की तस्करी पर प्रतिबंध लगाया और योगी  ने राज्य भर के सभी कार्यालयों में तंबाकू, पान और गुटखा पर प्रतिबंध लगाया उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा १०० से अधिक पुलिसकर्मियों को निकाला गया।

यूपी के सीएम बनने के बाद, उन्होंने लगभग ३६ मंत्रालयों को अपने पास रखा, जिनमें गृह, आवास, नगर और देश नियोजन विभाग, राजस्व, खाद्य और नागरिक आपूर्ति, खाद्य सुरक्षा और औषधि प्रशासन, अर्थशास्त्र और सांख्यिकी, खान और खनिज, बाढ़ नियंत्रण, स्टाम्प शामिल हैं। और रजिस्ट्री, जेल, सामान्य प्रशासन, सचिवालय प्रशासन, सतर्कता, कर्मियों और नियुक्ति, सूचना, संस्थागत वित्त, योजना, संपदा विभाग, शहरी भूमि, यूपी राज्य पुनर्गठन समिति, प्रशासन सुधार, कार्यक्रम कार्यान्वयन, राष्ट्रीय एकीकरण, बुनियादी ढांचा, समन्वय, भाषा बाहरी सहायता प्राप्त परियोजना, राहत और पुनर्वास, लोक सेवा प्रबंधन, किराया नियंत्रण, उपभोक्ता संरक्षण, भार और उपाय।

जन्मअजय मोहन बिष्ट
जन्म  जून १९७२ (उम्र ४७) 5 जून 1972
जन्मपंचूर, पौड़ी गढ़वाल जिला उत्तर प्रदेश
राजनीतिक दल       भारतीय जनता पार्टी
निवास स्थान  कालिदास मार्गलखनऊ  उत्तरप्रदेश
संस्थागढ़वाल विश्वविद्यालय
 माता श्रीश्री सावित्री देवी  
 पिता आनंद सिंह बिष्ट
भाईमहेंद्र सिंह बिष्ट , शशि सिंह , मानवेन्द्र मोहन , शैलेन्द्र मोहन  
वेबसाइट   

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) द्वारा २०१७ के राज्य विधानसभा चुनाव जीतने के बाद उन्हें२७ मार्च २०१७ को मुख्यमंत्री के रूप में नियुक्त किया गया था , जिसमें वे एक प्रमुख प्रचारक थे। लगातार पांच बार गोरखपुर निर्वाचन क्षेत्र, उत्तर प्रदेश से सांसद रहे हैं।

आदित्यनाथ गोरखपुर के हिंदू मंदिर , गोरखनाथ मठ के महंत या मुख्य पुजारी भी हैं , एक पद जो उन्होंने अपने आध्यात्मिक गुरु महंत अवैद्यनाथ की मृत्यु के बाद से सितंबर २०१४ में लिया था। वह हिंदू युवा वाहिनी के संस्थापक भी हैं।                                          

गोरखनाथ मठ

आदित्यनाथ १९९३ में अपने परिवार को त्याग कर  २१ वर्ष की आयु में महंत अवैद्यनाथ के शिष्य बने १२ सितंबर २०१४ को अपने शिक्षक महंत अवैद्यनाथ की मृत्यु के बाद उन्हें गोरखनाथ मठ के महंत की पद प्राप्त हुई । नाथ संप्रदाय के पारंपरिक अनुष्ठानों के बीच योगी आदित्यनाथ को १४ सितंबर २०१४ मठ का प्रमुख बनाया गया था।

विवाद

२००५ में, आदित्यनाथ एक ‘शुद्धि अभियान’ में शामिल थे, जिसमें यूपी के एटा शहर में लगभग १८०० ईसाइयों को हिंदू धर्म में परिवर्तित किया गया था । योगी जी ने कहा कि वह तब तक नहीं रुकेंगे जब तक वह उत्तर प्रदेश और भारत को हिंदू राज्य नहीं बना देते ।

जनवरी २००७ में, भाजपा नेताओं के साथ योगी धार्मिक हिंसा के कारण मारे गए एक व्यक्ति की मृत्यु पर शोक व्यक्त करने के लिए एकत्र हुए थे। उन्हें और भाजपा के अन्य नेता को  पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था और शांति भंग करने के आरोप में गोरखपुर जेल में बंद कर दिया था। उनकी गिरफ्तारी के कारण और अधिक अशांति फैल गई, जिसके चलते मुंबई जाने वाली मुंबई-गोरखपुर गोदान एक्सप्रेस के कई डिब्बे आग लगाई । हिंदू युवा वाहिनी के कार्यकर्ताओं ने विरोध प्रदर्शन किया ।जिसके अगले दिन जिला मजिस्ट्रेट और स्थानीय पुलिस प्रमुख को स्थानांतरित कर दिया गया

संसद के सदस्य  

योगी जी १२ वीं लोकसभा के सबसे कम उम्र के सदस्य थे। वह लगातार पांच बार (१९९८, १९९९, २००४, २००९ और २०१४ के चुनावों में) गोरखपुर से संसद के लिए चुने गए हैं ।                       

     

लोकसभा में योगी जी की उपस्थिति ७७% थी और उन्होंने २८४ प्रश्न पूछे गए तथा  ५६ बहसों में भाग लिया और १६वीं लोकसभा में तीन निजी सदस्य विधेयकों को पेश किया।

बयान

 जब महिला आरक्षण बिल का विरोध २०१० में  किया तो योगी जी  ने कहा कि आरक्षण महिलाओं की घरेलू जिम्मेदारियों जैसे कि बच्चो की सुरक्षा को प्रभावित नहीं करता है। उन्होंने कहा कि यदि पुरुष महिलाओं के लक्षणों को विकसित करते हैं तो वे देवता बन जाते हैं लेकिन यदि महिलाएं मर्दाना लक्षण विकसित करती हैं तो वे राक्षस बन जाते है

2008 का हमला

 आतंकवाद विरोधी रैली २००८ के लिए उनके काफिले पर  आज़मगढ़ के रास्ते पर हमला किया गया। जिसमे एक व्यक्ति की मौत हो गई और लगभग ६ लोग घायल हो गए।

 योगी आदित्यनाथ सोशल प्रोफाइल

योगी आदित्यनाथ ट्विटर प्रोफाइल –

लिंक से फॉलो करे – https://twitter.com/myogiadityanath

योगी आदित्यनाथ इंस्टाग्राम प्रोफाइल

लिंक से फॉलो करेhttps://www.instagram.com/myogi_adityanath/

https://www.instagram.com/p/B-m7fPsgH3y/?utm_source=ig_web_copy_link
योगी आदित्यनाथ फेसबुक प्रोफाइल

लिंक से फॉलो करेhttps://www.facebook.com/MYogiAdityanath

Leave a Reply

Your email address will not be published.